लोकसभा चुनाव में हार के बाद यूपी कांग्रेस में बड़े बदलाव की तैयारी

लोकसभा चुनाव में हार के बाद कांग्रेस उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए संगठन को नए सिरे से खड़ा करने की तैयारी कर रही है। पार्टी की कोशिश है कि विधानसभा चुनाव से पहले पूरे प्रदेश में बूथ स्तर से लेकर अध्यक्ष तक बदलाव किया जाए। ताकि, पार्टी कार्यकर्ताओं में भरोसा पैदा किया जा सके। साथ ही पार्टी चुनाव में हार के कारणों की समीक्षा कर रणनीति में भी बदलाव करेगी।

उत्तर प्रदेश कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि पार्टी प्रदेश में संगठन को मजबूत बनाने और नए लोगों को अपने साथ जोड़ने की रणनीति का खाका तैयार कर रही है। इस सिलसिले में पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने प्रदेश कांग्रेस के नेताओं से अलग-अलग चर्चा की है। पार्टी जल्द एक कार्ययोजना के साथ उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव की तैयारियों की औपचारिक शुरुआत करेगी।

लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को उत्तर प्रदेश में सीट के साथ वोट प्रतिशत भी कम हुआ है। वर्ष 2014 के चुनाव में कांग्रेस को दो सीट के साथ साढ़े सात फीसदी वोट मिले थे। पर इस बार पार्टी को सिर्फ 6.3 प्रतिशत वोट मिल पाए। हालांकि, वर्ष 2017 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को 6.2 फीसदी वोट मिले थे। यह चुनाव कांग्रेस ने समाजवादी पार्टी के साथ गठबंधन में लड़ा था।

मध्य प्रदेश में राह तलाश रही कांग्रेस: लोकसभा चुनाव में हार के बाद हताश मध्य प्रदेश कांग्रेस इस स्थिति से निकलने की राह तलाशने में जुटी हुई है। शनिवार रात कांग्रेस की कोर कमेटी की बैठक में कांग्रेस के तमाम दिग्गज नेताओं ने हार के कारणों को तलाशने और उसके अनुरूप रोडमैप बनाकर काम करने पर जोर दिया। राज्य में कांग्रेस को छह माह पहले विधानसभा चुनाव में जहां भाजपा के मुकाबले ज्यादा सीटें मिली थीं, वहीं लोकसभा चुनाव में उसे करारी हार का सामना करना पड़ा है।

प्रियंका गांधी 12 को पूर्वांचल की सीटों की समीक्षा करेंगी  

कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव और पूर्वी उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका गांधी 12 जून को रायबरेली में लोकसभा चुनाव के प्रत्याशियों और कोआर्डिनेटरों के साथ बैठक करेंगी। माना जा रहा है कि हार के कारणों की समीक्षा के साथ ही प्रियंका प्रदेश में पार्टी के पुनर्गठन पर भी मंथन करेंगी। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने हालिया लोकसभा चुनाव से पहले यूपी को दो भागों पूर्व और पश्चिम में बांट कर प्रियंका गांधी और ज्योतिरादित्र्य ंसधिया को इसकी जिम्मेदारी दी थी।

हुड्डा ने कार्यकर्ताओं को चुनाव की तैयारी में जुटने को कहा

हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री र्भूंपदर्र ंसह हुड्डा ने रविवार को पार्टी कार्यकर्ताओं से राज्य में आगामी विधानसभा चुनाव के लिए तैयारी करने के लिए कहा। उन्होंने कहा कि यह वक्त भाजपा सरकार को उखाड़ फेंकने के लिए एकजुट होकर लड़ने का है। हुड्डा ने अक्टूबर में हरियाणा में होने वाले विधानसभा चुनावों के मद्देनजर दिल्ली में पार्टी की प्रदेश ईकाई के नेताओं की बैठक बुलाई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *