मोदी-शी मुलाकात: अगर चीन ने उठाया कश्मीर का मुद्दा तो भारत ऐसे देगा जवाब

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आमंत्रण पर चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग 11 अक्टूबर को भारत के दो दिवसीय  दौरे पर आएंगे। चीन के राष्ट्रपति और पीएम मोदी के बीच दूसरा अनौपचारिक शिखर सम्मेलन 11-12 अक्टूबर को भारत के चेन्नई में होगा। इससे पहले जिनपिंग और प्रधानमंत्री के बीच पहला अनौपचारिक शिखर सम्मेलन पिछले वर्ष 27-28 अप्रैल को चीन के वुहान में हुआ था।

इस दौरान दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय, क्षेत्रीय और वैश्विक संबंधी महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा होने की संभावना है। साथ ही, इस सम्मेलन से दोनों देशों को आपसी संबंधों को मजबूत करने का अच्छा अवसर मिलेगा। सूत्रों के अनुसार, कश्मीर पर भारत का रुख एकदम स्पष्ट है। अगर शी ने मामला उठाया तो मोदी उन्हें हमारा पक्ष समझाएंगे।

एएनआई के सूत्रों के अनुसार, चीन के राष्ट्रपति शी जिनफिंग की भारत यात्रा के दौरान किसी समझौते, किसी सहमति ज्ञापन अथवा संयुक्त बयान पर हस्ताक्षर किए जाने की संभावना नहीं है, क्योंकि यह बैठक अनौपचारिक होगी। जिनफिंग के साथ उनके साथ विदेश मंत्री और कम्यूनिस्ट पार्टी के सीनियर नेता भी आएंगे। इसके अलावा पीएम मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग के बीच होने वाली वार्ता में टेररिज्म, टेरर फंडिग और सपॉर्ट जैसे मुद्दे प्रमुख रहेंगे।

जानें क्या है पूरा कार्यक्रम

चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग शुक्रवार को अपराह्न 13:20 बजे चेन्नई पहुंचेंगे।  जिनपिंग निर्धारित कार्यक्रम यहां के गुइंडी स्थित एक होटल में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ द्विपक्षीय तथा व्यापारिक  मुद्दों पर वार्ता करेंगे, जिसको लेकर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये गये हैं। जिनपिंग के हवाई अड्डे पर पहुंचने के बाद पारंपरिक नृत्य तथा संगीत के जरिये उनका स्वागत किया जाएगा और इसके बाद वह 13:45 बजे होटल पहुंचेंगे।

चीन के राष्ट्रपति के आगमन के दौरान लगभग 10 से 15 मिनट तक हवाई अड्डे पर घरेलू या अंतरराष्ट्रीय विमानों का परिचालन नहीं होगा। इसके लेकर विमान कंपनियों के अपनी उड़ानों के समय को पुनर्निधारित करने की सलाह दी गयी है।

जिनपिंग होटल में थोड़ी देर ठहरने के बाद सड़क मार्ग से चेन्नई से लगभग 55 किलोमीटर दूर महाबलीपुरम रवाना होंगे, जहां वह पीएम मोदी के साथ शाम पांच बजे ‘अजुर्न पेनांस’, पांच बजकर 20 मिनट पर पांच रथ तथा पांच बजकर 45 मिनट पर प्रसिद्ध शोर मंदिर जाएंगे। जिनपिंग यहां सांस्कृतिक समारोह में शामिल होने और महत्वपूर्ण नेताओं से मुलाकात करने के बाद रात नौ बजे होटल लौट आएंगे।

चीन के राष्ट्रपति 12 अक्टूबर को सुबह नौ बजे तटीय शहर रवाना हो जाएंगे, जहां पर वह पीएम मोदी के साथ द्विपक्षीय वार्ता करेंगे। पीएम मोदी के साथ भोजन करने के बाद जिनपिंग 1315 बजे चेन्नई लौट आएंगे और इसके बाद अपराह्न 14:20 चीन रवाना हो जाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *