इजराइल-यूएई समझौते में अहम भूमिका के लिए ट्रंप को नोबेल शांति पुरस्कार के लिए किया गया नामित

अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (US President Donald Trump) को अगले साल (2021 Nobel Peace Prize) के नोबेल शांति पुरस्‍कार के लिए नामित किया गया है। नॉर्वे के सांसद क्रिश्चियन टाइब्रिंग गजेड ने ट्रंप को इस प्रतिष्ठित पुरस्कार के लिए नामित किया है। क्रिश्चियन टाइब्रिंग गजेड (Christian Tybring Gjedde) ने इजराइल और संयुक्त अरब अमीरात के बीच शांति समझौते में ट्रंप की महत्‍वपूर्ण भूमिका को देखते हुए उनको इस चर्चित पुरस्‍कार के लिए नामित किया है। साल 2018 में भी ट्रंप को इस पुरस्कार के लिए नामित किया था।

टाइब्रिंग (Christian Tybring Gjedde) ने कहा कि ट्रंप ने केवल इजराइल और यूएई के बीच ही समझौता नहीं कराया बल्कि उन्‍होंने भारत और पाकिस्तान के बीच कश्मीर मसले पर सकारात्‍मक पहल की। यही नहीं उन्‍होंने दुनियाभर में टकरावों को खत्‍म करने के लिए प्रयास किए। टाइब्रिंग ने आगे कहा कि मुझे लगता है कि वैश्विक शांति स्थापित करने के लिए ट्रंप से ज्यादा प्रयास किसी दूसरे नामित सदस्य ने नहीं किए हैं।  नाटो संसदीय सभा के लिए नार्वे प्रतिनिधिमंडल के अध्‍यक्ष टाइब्रिंग ने कहा कि इजराइल और यूएई के बीच संबंधों को मधुर बनाने के लिए ट्रंप प्रशासन (Trump administration) ने महत्‍वपूर्ण भू‍मिका न‍िभाई।

अमेरिकी राष्‍ट्रपति ट्रंप के लिए नॉमिनेशन पत्र टाइब्रिंग ने लिखा है कि जैसी कि उम्मीद है कि अन्य मध्य पूर्वी देश भी संयुक्त अरब अमीरात (UAE) के नक्शेकदम पर चलेंगे। ऐसा कोई भी समझौता शांति के क्षेत्र में गेम चेंजर साबित हो सकता है। यह मध्य पूर्व को सहयोग और समृद्धि के क्षेत्र में बदल देगा। ट्रंप ने उत्‍तर और दक्षिण कोरिया के बीच टकराव को खत्‍म करने के लिए भी सकारात्‍मक पहल की। टाइब्रिंग ने पत्र में मध्‍य पूर्व से बड़ी संख्‍या में अमेरिकी सैनिकों की वापसी के लिए भी ट्रंप की तारीफ की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *